Whatsapp Group Join Now
Telegram Group Join Now

UPSC Syllabus in Hindi 2023 PDF Download (Prelims और Mains) and Exam Pattern 2024

UPSC Syllabus in Hindi 2023: नमस्कार दोस्तों BhawaniShankar.in पर आपका स्वागत है। संघ लोक सेवा आयोग (Union Public Service Commission) यानी यूपीएससी की परीक्षा 2023 के लिए तैयारी कर रहे हैं और आप UPSC Syllabus in Hindi 2023 की तलाश कर रहे हैं, तो अब यह खोज पूरी हो चुकी है क्योंकि हम आपको UPSC Syllabus PDF in Hindi 2023 के बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले इसमें होने वाले दोनों पेपरों UPSC Prelims Syllabus in Hindi और UPSC Mains Syllabus in Hindi की पूरी जानकारी इस लेख में आपको मिलेगी।

UPSC Syllabus in Hindi 2023

UPSC ka Syllabus in Hindi

यदि आपको यूपीएससी परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन करना है तो आपको upsc syllabus 2023 जरूर देखना चाहिए यदि आप यूपीएससी में सिलेक्ट हुए उम्मीदवारों के इंटरव्यू को सुनेंगे तो आपको सबसे पहले यही बात समझ में आएगी कि जिसका भी सिलेक्शन हुआ है।

यूपीएससी का सिलेबस और यूपीएससी का एग्जाम पैटर्न ध्यान से समझा है यदि आप बिना सिलेबस को समझें किसी भी कोचिंग या किसी के बताए अनुसार बुक्स खरीद ली तो यह सिर्फ पैसों की बर्बादी ही होगी।

इसलिए इस लेख में हम UPSC Syllabus in Hindi 2023 से जुड़ी हुई सभी बातों पर विस्तार पूर्वक चर्चा करेंगे तो चलिए शुरू करते हैं यूपीएससी सिलेबस (UPSC Syllabus in Hindi 2023) Prelims Syllabus और UPSC Mains.

इसे भी पढ़ें >>>

UPSC CDS Syllabusयहाँ देख सकते है।

UPSC Syllabus Exam Pattern in Hindi 2024

संघ लोक सेवा आयोग (Union Public Service Commission) की परीक्षा दो चरणों में आयोजित होती है।

  1. प्रारंभिक परीक्षा (Prelims)
  2. मुख्य परीक्षा (Mains)

जैसे ही आप UPSC प्रारंभिक परीक्षा (Prelims) को पास कर लेते हैं फिर आप UPSC मुख्य परीक्षा (Mains) की परीक्षा देने के लिए योग्य हो जाते हैं।

UPSC मुख्य परीक्षा (Mains) परीक्षा में 2 भाग होते हैं।

  1. मुख्य लिखित परीक्षा
  2. इंटरव्यू

UPSC प्रारंभिक परीक्षा (Prelims) में दो पेपर होते हैं।

  1. GS I (General Studies 1)
  2. GS II (CSAT)

UPSC Prelims and Mains NCERT Objective Studies Kit for UPSC, State PSCs (MCQ with Answers] (Set of 5 Books in Hindi)

यहाँ देख सकते है।

UPSC Prelims Exam Pattern In Hindi

  पेपर  पेपर – I  पेपर – II
  प्रश्नों की संख्या  100  80
  समय  02 घण्टा  02 घण्टा
  कुल अंक  200  200
  • UPSC Prelims परीक्षा में सभी प्रश्न MCQ टाइप के होंगे।
  • पेपर को हल करने के लिए समय 120 मिनट दिया गया है।
  • परीक्षा में प्रत्येक गलत प्रश्न के लिए 0.33 अंक काट लिए जाएंगे।
  • यह पेपर स्नातक स्तर का होने वाला है अर्थात पेपर का स्तर स्नातक का होगा।

UPSC Mains Exam Pattern In Hindi

 Qualifying Papers कुल अंक
 Paper-Aसंविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल भाषाओं में से उम्मीदवार द्वारा चुनी जाने वाली भारतीय भाषा में से एक। 300
 Paper-Bअंग्रेजी। 300
 Merit Paper
 Paper 1निबंध। 250
 Paper 2जनरल स्टडीज (GS) – I  (भारतीय विरासत और संस्कृति, विश्व और समाज का इतिहास और भूगोल) 250
 Paper 3जनरल स्टडीज (GS) – II (शासन, संविधान, राजनीति, सामाजिक न्याय और अंतर्राष्ट्रीय संबंध) 250
 Paper 4जनरल स्टडीज (GS) – III (प्रौद्योगिकी, आर्थिक विकास, जैव-विविधता, पर्यावरण, सुरक्षा और आपदा प्रबंधन) 250
 Paper 5जनरल स्टडीज (GS) – IV (नैतिकता, सत्यनिष्ठा और योग्यता) 250
 Paper 6वैकल्पिक पेपर-I 250
 Paper 7वैकल्पिक पेपर-II 250
कुल अंक (लिखित परीक्षा) 1750
व्यक्तित्व परीक्षण 250
कुल अंक 2025

UPSC Syllabus in Hindi 2023

UPSC Syllabus in Hindi 2023

इसे भी पढ़ें >>>

RAS Syllabus in Hindiयहाँ देख सकते है।

UPSC Prelims Syllabus in Hindi

  • UPSC Syllabus in Hindi 2023: सामान्य अध्ययन I (GS I) सिलेबस
  1. राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व की वर्तमान घटनाएं।
  2. भारत का इतिहास और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन।
  3. भारतीय और विश्व भूगोल-भौतिक, सामाजिक, भारत और विश्व का आर्थिक भूगोल।
  4. भारतीय राजनीति और शासन-संविधान, राजनीतिक व्यवस्था, पंचायती राज, सार्वजनिक नीति, अधिकार मुद्दे, आदि।
  5. आर्थिक और सामाजिक विकास-सतत विकास, गरीबी, समावेश, जनसांख्यिकी, सामाजिक क्षेत्र की पहल आदि।
  6. पर्यावरणीय पारिस्थितिकी, जैव विविधता और जलवायु परिवर्तन पर सामान्य मुद्दे।
  7. सामान्य विज्ञान।
  • UPSC Syllabus in Hindi 2023 :सामान्य अध्ययन II (CSAT) सिलेबस
  1. चार कौशल सहित पारस्परिक कौशल।
  2. तार्किक तर्क और विश्लेषणात्मक क्षमता।
  3. कॉम्प्रिहेंशन।
  4. सामान्य मानसिक क्षमता।
  5. निर्णय लेना और समस्या-समाधान।
  6. गणितीय संख्या (परिमाण का क्रम, संख्या और उनके संबंध, आदि) – कक्षा 10वीं स्तर।
  7. डेटा इंटरप्रिटेशन (रेखांकन, चार्ट, आंकड़ों की पर्याप्तता, टेबल आदि) – कक्षा 10वीं स्तर।

TOPPERS NOTES IAS Samanya Adhyayanir?t=bsistore 21&language=en IN&l=li2&o=31&a=B082NTSSD7

UPSC Mains Syllabus Pattern in Hindi

UPSC Mains लिखित परीक्षा में कुल 9 पेपर होते हैं, जिसमें से 2 भाषा का पेपर होता है, 1 निबंध का, 4 सामान्य अध्ययन का तथा 2 ऑप्शनल सब्जेक्ट का पेपर होता है

UPSC Syllabus in Hindi 2023 Paper – A अनिवार्य भाषा
  1. दिए गए गद्यांशों को समझना।
  2. संक्षेपन।
  3. शब्द प्रयोग तथा शब्द भंडार।
  4. लघु निबंध।
  5. अंग्रेजी से भारतीय भाषा में अनुवाद और इसके विपरीत भारतीय भाषा से अंग्रेजी भाषा में अनुवाद।

 

UPSC Syllabus in Hindi 2023 Paper – B अंग्रेजी का सिलेबस
  1. दिए गए गद्यांशों को समझना।
  2. संक्षेपन।
  3. शब्द प्रयोग तथा शब्द भंडार।
  4. लघु निबंध।
  5. अंग्रेजी से भारतीय भाषा में अनुवाद और इसके विपरीत भारतीय भाषा से अंग्रेजी भाषा में अनुवाद।

 

UPSC Mains Syllabus PDF in Hindi Paper – 1 जनरल स्टडीज (GS) – I
  1. भारतीय संस्कृति में प्राचीन काल से आधुनिक काल तक के कला के रूप, साहित्य और वास्तुकला के मुख्य पहलु शामिल होंगे।
  2. भारतीय समाज पर भूमंडलीकरण का प्रभाव।
  3. 18वीं सदी के लगभग मध्य से लेकर वर्तमान समय तक का आधुनिक भारतीय इतिहास – महत्वपूर्ण घटनाएं, व्यक्तित्व, विषय।
  4. महिलाओं की भूमिका और महिला संगठन, जनसँख्या एवं सम्बद्ध मुद्दे, गरीबी और विकासात्मक विषय, शहरीकरण, उनकी समस्याएं और उनके रक्षोपाय।
  5. भारतीय समाज की मुख्य विशेषताएं, भारत की विविधता।
  6. विश्व के इतिहास में 18वीं सदी की घटनाएं यथा औद्योगिक क्रांति, विश्व युद्ध, राष्ट्रीय सीमाओं का पुनः सीमांकन, उपनिवेशवाद, उपनिवेशवाद की समाप्ति, राजनीतिक दर्शन शास्त्र जैसे साम्यवाद, पूंजीवाद, समाजवाद आदि शामिल होंगे, उनके रूप और समाज पर उनका प्रभाव।
  7. स्वतंत्रता के पश्चात देश के अंदर एकीकरण और पुनर्गठन।
  8. सामाजिक सशक्तिकरण, सम्प्रदायवाद, क्षेत्रवाद और धर्म-निरपेक्षता।
  9. स्वतंत्रता संग्राम – इसके विभिन्न चरण और देश के विभिन्न भागों से इसमें अपना योगदान देने वाले महत्वपूर्ण व्यक्ति/उनका योगदान।
  10. भूकंप, सुनामी, ज्वालामुखी हलचल, चक्रवात आदि जैसी महत्वपूर्ण भू-भौतिकीय घटनाएँ, भूगोलीय विशेषताएं और उनके स्थान-अति महत्वपूर्ण भूगोलीय विशेषताओं (जल-स्रोत और हिमवारन सहित) और वनस्पति एवं प्राणी-जगत में परिवर्तन और इस प्रकार के परिवर्तनों के प्रभाव।
  11. विश्व के भौतिक भूगोल की मुख्य विशेषताएं।
  12. विश्वभर के मुख्य प्राकृतिक संसाधनों का वितरण (दक्षिण एशिया और भारतीय उपमहाद्वीप को शामिल करते हुए), विश्व (भारत सहित) के विभिन्न भागों में प्राथमिक, द्वित्यिक और तृतीयक क्षेत्र के उद्योगों को स्थापित करने के लिए जिम्मेदार कारक।

 

TOPPERS NOTES IAS Samanya Adhyayanयहाँ देख सकते है।

 

UPSC Mains Syllabus PDF in Hindi Paper – 2 जनरल स्टडीज (GS) – II
  1. भारतीय संविधान- ऐतिहासिक आधार, विकास, संविधान की विशेषताएं, संशोधन, महत्वपूर्ण प्रावधान और बुनियादी संरचना
  2. भारत के हितों, भारतीय परिदृश्य पर विकसित और विकासशील देशों की नीतियां तथा राजनीति का प्रभाव
  3. संसद और राज्य विधायिका – संरचना, कार्य, कार्य-संचालन, शक्तियाँ एवं विशेषाधिकार और इनसे उत्पन्न होने वाले विषय
  4. भारतीय संवैधानिक योजना की अन्य देशों के साथ तुलना
  5. कार्यपालिका और न्यायपालिका की संरचना, संगठन और कार्य – सरकार के मंत्रालय एवं विभाग, प्रभावक समूह और औपचारिक / अनौपचारिक संघ एवं शासन प्रणाली में उनकी भूमिका
  6. संघ एवं राज्यों के कार्य तथा उत्तरदायित्व, संघीय ढांचे से संबंधित विषय एवं चुनौतियां, स्थानीय स्तर पर शक्तियों और वित्त का हस्तांतरण और उसकी चुनौतियाँ
  7. विभिन्न संवैधानिक पदों पर नियुक्ति और विभिन्न संवैधानिक निकायों की शक्तियां, कार्य और उत्तरदायित्व
  8. विकास प्रक्रिया तथा विकास उद्योग – गैर सरकारी संगठनो, स्वयं सहायता समूहों, विभिन्न समूहों संघो, दानकर्ताओं, लोकोपकारी संस्थाओं, संस्थागत एवं अन्य पक्षों की भूमिका
  9. जन प्रतिनिधित्व अधिनियम की मुख्य विशेषताएं
  10. केंद्र और राज्यों द्वारा जनसंख्या के अति संवेदनशील वर्गों के लिए कल्याणकारी योजनाएँ और इन योजनाओं का कार्य-निष्पादन, इन अति संवेदनशील वर्गों की रक्षा एवं बेहतरी के लिए गठित तंत्र, विधि, संस्थान एवं निकाय
  11. स्वास्थ्य, शिक्षा, मानव संसाधनों से संबंधित सामाजिक क्षेत्र/सेवाओं के विकास और प्रबंधन से संबंधित विषय
  12. सांविधिक, विनियामक और विभिन्न अर्ध-न्यायिक निकाय
  13. सरकारी नीतियों और विभिन्न क्षेत्रों में विकास के लिए हस्तक्षेप और उनके अभिकल्पन तथा कार्यान्वयन के कारण उत्पन्न विषय
  14. गरीबी और भूख से संबंधित विषय
  15. शासन व्यवस्था, पारदर्शिता और जवाबदेही के महत्वपूर्ण पक्ष, ई-गवर्नेंस- अनुप्रयोग, मॉडल, सफलताएं, सीमाएं और संभावनाएं; नागरिक चार्टर, पारदर्शिता एवं जवाबदेही और संस्थागत तथा अन्य उपाय
  16. लोकतंत्र में सिविल सेवाओं की भूमिका
  17. भारत एवं उसके पड़ोसी-संबंध
  18. द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक समूह और भारत से संबंधित और/अथवा भारत के हितों को प्रभावित करने वाले करार
  19. महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय संस्थान, संस्थाएं और मंच – उनकी संरचना, अधिदेश

 

UPSC Mains Syllabus PDF in Hindi Paper – 3 जनरल स्टडीज (GS) – III
  1. भारतीय अर्थव्यवस्था तथा योजना, संसाधनों को जुटाने, प्रगति, विकास तथा रोजगार से संबंधित विषय
  2. सरकारी बजट
  3. भारत में खाद्य प्रसंस्करण एवं संबंधित उद्योग- कार्यक्षेत्र एवं महत्व, स्थान, ऊपरी और नीचे की अपेक्षाएं, आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन
  4. समावेशी विकास तथा इससे उत्पन्न विषय
  5. प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष कृषि सहायत तथा न्यूनतम समर्थन मूल्य से संबंधित विषय; जन वितरण प्रणाली- उद्देश्य, कार्य, सीमाएँ, सुधार; बफर स्टॉक एवं खाद्य सुरक्षा संबंधी विषय; प्रौद्योगिकी मिशन; पशु-पालन संबंधी अर्थशास्त्र
  6. मुख्य फसलें – देश के विभिन्न भागों में फसलों का पैटर्न, – सिंचाई के विभिन्न प्रकार एवं सिंचाई प्रणाली-कृषि उत्पाद का भंडारण, परिवहन तथा विपणन, संबंधित विषय और बाधाएं: किसानों की सहायता के लिए ई-प्रौद्योगिकी
  7. उदारीकरण का अर्थव्यवस्था पर प्रभाव, औद्योगिक नीति में परिवर्तन तथा औद्योगिक विकास पर इनका प्रभाव
  8. भारत में भूमि सुधार
  9. विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी में भारतीयों की उपलब्धियां; देशज रूप से प्रौद्योगिकी का विकास और नई प्रौद्योगिकी का विकास
  10. विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी- विकास एवं अनुप्रयोग और रोजमर्रा के जीवन पर इसका प्रभाव
  11. बुनियादी ढांचा: ऊर्जा, बंदरगाह, सड़क, विमानपत्तन, रेलवे आदि
  12. निवेश मॉडल
  13. सुचना प्रौद्योगिकी, अंतरिक्ष, कंप्यूटर, रोबोटिक्स, नैनो-टेक्नोलॉजी, बायो-टेक्नोलॉजी और बौद्धिक संपदा अधिकारों से संबंधित विषयों के संबंध में जागरूकता
  14. आपदा और आपदा प्रबंधन
  15. संरक्षण, पर्यावरण प्रदूषण और क्षरण, पर्यावरण प्रभाव का आकलन
  16. विकास और फैलते उग्रवाद के बीच संबंध
  17. संचार नेटवर्क के माध्यम से आंतरिक सुरक्षा को चुनौती, आंतरिक सुरक्षा चुनौतियों में मीडिया और सामाजिक नेटवर्किंग साइटों की भूमिका, साइबर सुरक्षा की बुनियादी बातें, धन-शोधन और इसे रोकना
  18. सीमावर्ती क्षेत्रों में सुरक्षा चुनौतियां एवं उनका प्रबंधन – संगठित अपराध और आतंकवाद के बीच संबंध
  19. आंतरिक सुरक्षा के लिए चुनौती उत्पन्न करने वाले शासन विरोधी तत्वों की भूमिका
  20. विभिन्न सुरक्षा बल और संस्थाएं तथा उनके अधिदेश

इसे भी पढ़ें >>>

CTET Syllabus in Hindiयहाँ देख सकते है।

 

UPSC Mains Syllabus PDF in Hindi Paper – 4 जनरल स्टडीज (GS) – IV
  1. नीतिशास्त्र तथा मानवीय सह-संबंध: मानवीय क्रियाकलापों में नीतिशास्त्र का सार तत्व, इसके निर्धारक और परिणाम; नीतिशास्त्र के आयाम; निजी और सार्वजनिक संबंधों में नीतिशास्त्र
  2. मानवीय मूल्य – महान नेताओं, सुधारकों और प्रशासकों के जीवन तथा उनके उपदेशों से शिक्षा; मूल्य विकसित करने में परिवार, समाज और शैक्षणिक संस्थाओं की भूमिका
  3. भारत तथा विश्व के नैतिक विचारकों और दार्शनिकों के योगदान
  4. अभिवृत्ति: सारांश (कंटेन्ट) संरचना, वृत्ति, विचार तथा आचरण के परिप्रेक्ष्य में इसका प्रभाव एवं संबंध; नैतिक और राजनीतिक अभिरुचि; सामाजिक प्रभाव और धारणा
  5. लोक प्रशासनों में लोक/सिविल सेवा मूल्य तथा नीतिशास्त्र: स्थिति तथा समस्याएं; सरकारी तथा निजी संस्थानों में नैतिक चिंताएँ तथा दुविधाएं; नैतिक मार्गदर्शन के स्रोतों के रूप में विधि, नियम, विनियम तथा अंतरात्मा; शासन व्यवस्था में नीतिपरक तथा नैतिक मूल्यों का शुद्धिकरण; अंतरराष्ट्रीय संबंधों तथा निधि व्यवस्था (फंडिंग) में नैतिक मुद्दे; कॉर्पोरेट शासन व्यवस्था
  6. सिविल सेवा के लिए अभिरुचि तथा बुनियादी मूल्य, सत्यनिष्ठा, भेदभाव रहित तथा गैर-तरफदारी, निष्पक्षता, सार्वजनिक सेवा के प्रति समर्पण भाव, कमजोर वर्गों के प्रति सहानुभूति, सहिष्णुता तथा संवेदना
  7. शासन व्यवस्था में ईमानदारी: लोक सेवा की अवधारणा; शासन व्यवस्था और ईमानदारी का दार्शनिक आधार, सरकार में सूचना का आदान-प्रदान और पारदर्शिता, शासन और आवश्यकता के दार्शनिक आधार, नीतिपरक, आचार संहिता, सूचना का अधिकार, आचरण संहिता, कार्य संस्कृति, सेवा प्रदान करने की गुणवत्ता, लोक निधि का उपयोग, भ्रष्टाचार की चुनौतियाँ
  8. उपयुर्क्त विषयों पर मामला संबंधी अध्ययन (केस स्टडी)

 

UPSC Syllabus in Hindi 2024 Paper – 5 & 6

UPSC सिविल सेवा परीक्षा में कुल 47 वैकल्पिक विषय (optional subjects) होते हैं, जिसमें से आपको कोई एक ऑप्शनल सब्जेक्ट चुनना होता है

इसे भी पढ़ें >>>

UPSC Geography Syllabus in Hindiयहाँ देख सकते है।

 

UPSC History Syllabus in Hindiयहाँ देख सकते है।

UPSC Prelims Syllabus PDF Download 2023 in Hindi

General Studies 1Go To Download
General Studies 2Go To Download
Join TelegramJoin Now
Join WhatsAppJoin Now

UPSC Mains Syllabus PDF Download 2023 in Hindi

Paper – A & BGo To Download
Paper – 1Go To Download
Paper – 2Go To Download
Paper – 3Go To Download
Paper – 4Go To Download

UPSC Syllabus in Hindi PDF FAQs

यूपीएससी का सिलेबस क्या क्या होता है?

यूपीएससी में भारतीय राज्यव्यवस्था, भूगोल, इतिहास, भारतीय अर्थव्यवस्था, विज्ञान एवं प्राद्यौगिकी, पर्यावरण एवं पारिस्थितिकि, अंतराष्ट्रीय सम्बन्ध और करेंट अफेयर्स के प्रश्न पूछे जाते हैं।

UPSC में कितने विषय?

UPSC की परीक्षा दो चरणों में आयोजित होती है। (1). प्रारंभिक परीक्षा (Prelims) (2).मुख्य परीक्षा (Mains)

UPSC में कितने वैकल्पिक विषय होते हैं?

UPSC में कुल 47 वैकल्पिक विषय (optional subjects) होते हैं।

Syllabus Reet Level 2 Result 2023Update Reet Level 2 Result 2023
Facebook Pagenew imgJoin Now
Instagram Pagenew imgJoin Now
WhatsApp Groupnew imgClick Here
Telegram Channelnew imgClick Here

 


Whatsapp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment